R.A.H.I.B. – Jhansi Wali Rani

R.A.H.I.B. – New Delhi


Band Profile: R.A.H.I.B.
Song Title: झाँसी वाली रानी
Language: Hindi
Duration: 5 min 15 sec
Genre: Rock
Song Creation Date: 21 August 2012
Found Deshraag through: Facebook
Feedback on Deshraag:
This is the first time we are participating in this competition let’s see how our experience will be.

Lyrics:

एक लड़की वीर थी जो
जब वो भड़के चीर दे वो
उसका निशाना थे फिरंगी
मानो मेरी बात वो तो थे फंगी(Fungi)
फंगी की ही तरह तो फंगस(Fungus) लगाया
हमारे देश को हमसे चुराया
वो फॉलो करते थे डिवाइड ऐंड रूल
पर वो ना जाने थे कि ये उनकी है भूल
जिस धरती पर उन्होने पाँव है रखा
उस धरती पर है वीर हर बच्चा बच्चा
उन्ही बच्चों मे से थी वो एक लड़की
जो गोरों के लिए थी ठंडी कदकी
कौन थी वो.. कौन थी..

कंधो पे लेकर ज़िम्मेवारी
उसने अँग्रेज़ों की जड़ें उखाड़ी
हाथों मे चूड़ियाँ पहने वो साड़ी
सुहागन बनके भी उसकी जंग थी जारी
बनके अँग्रेज़ों की खून की प्यासी
चाहा था उसने आज़ाद हो झाँसी
बहा के अपने लहू का हर कतरा
बन गयी दुश्मनों के लिए ख़तरा
कौन थी वो… कौन थी..

वो तो झाँसी वाली रानी थी..
वो तो झाँसी वाली रानी थी..

खूब लड़ी मर्दानी वो तो झाँसी वाली रानी थी
नाम था उसका “मनु” जिसने हार कभी ना मानी थी
चूल्हा चौका छोड़ थाम हथियार बीती जवानी थी
अँग्रेज़ों को लगती यारों शैतान की नानी थी
फटती थी अँग्रेज़ों की..
अरे भई फटती थी अँग्रेज़ों की
नाम जब उसका ज़ुबान पे आता
हाथ मे इक तलवार
होके सवार घोड़े पे वीर मराठा
आज़ादी के नारे उसकी ज़ुबान पे “पत्थर की लकीर”
लड़ गयी वो अंग्रेज़ो से वो थी भारत की शूर वीर
बचपन बीता जिसका बिन मा के
पली बढ़ी साथ पापा के
हारी ना आख़िर तक
किस्मत की वो दोहरी मार भी खा के
कौन थी वो… कौन थी वो.. कौन थी वो…

उसके इरादों मे थी बुलंदी
क़ैद सड़ रहे थे लाखों बँधी
उन बंधियों को उसने छुड़ाया
सच्चे देश भक्त का फ़र्ज़ निभाया
उसकी आँखों में दहेकते शोले
डरते थे दुश्मन जब वो बोले
उसने थी देश मे आँधी जगाई
सबको भारत माँ की याद दिलाई
कौन थी वो… कौन थी..

वो तो झाँसी वाली रानी थी..
वो तो झाँसी वाली रानी थी..

उसने हार नही मानी थी..
वो तो झाँसी वाली रानी थी..

Skip to toolbar
Contact Us